Moila Bugyal, Chakrata

उत्तराखंड राज्य के देहरादून जिले में समुद्र तल से लगभग 2150 मीटर ऊपर स्थित चकराता एक शांत और सुरम्य हिल स्टेशन है। चकराता एक रिज पर स्थित है और इसके चारों तरफ 15-20 किलोमीटर के क्षेत्र में कई शानदार स्थान मौजूद हैं, जहाँ आपको उत्तराखंड की ग्रामीण संस्कृति के दर्शन होंगे। आप चाहे चकराता-मसूरी रोड पर चले जाइए, चाहे टाइगर फाल रोड पर या त्यूणी रोड पर – आपको कई गाँव ऐसे मिल जाएँगे, जहाँ आपका बस जाने का मन करने लगेगा।
लोखंडी भी एक ऐसी ही जगह है, जो चकराता से त्यूणी रोड पर 20 किलोमीटर दूर स्थित है। इसकी समुद्र तल से ऊँचाई लगभग 2550 मीटर है और यहाँ से आपको हिमाचल में किन्नौर हिमालय और श्रीखंड हिमालय के बर्फीले पर्वत दिखेंगे।

चकराता-लोखंडी कैसे पहुँचें?
ये दोनों ही स्थान सड़क मार्ग से राज्य और देश के बाकी हिस्सों से अच्छी तरह जुड़े हैं। यदि आप दिल्ली से यहाँ आना चाहते हैं, तो दो रास्ते हैं – देहरादून होते हुए और पौंटा साहिब होते हुए। वर्तमान में दिल्ली से करनाल, यमुनानगर, पौंटा साहिब, विकासनगर होते हुए चकराता और लोखंडी जाना ज्यादा सुविधाजनक है। दिल्ली से चकराता लगभग 325 किलोमीटर दूर है और आप अपनी गाड़ी से 8 घंटे में यहाँ पहुँच सकते हैं। देहरादून से चकराता 90 किलोमीटर है और चंडीगढ़ से 200 किलोमीटर। इन सभी स्थानों से आपको टैक्सी आसानी से मिल जाएँगी और आप अपनी गाड़ी से भी आ सकते हैं।

पब्लिक ट्रांसपोर्ट से चकराता-लोखंडी कैसे पहुँचें?
नजदीकी रेलवे स्टेशन: देहरादून
नजदीकी एयरपोर्ट: जौली ग्रांट, देहरादून
दिल्ली से देहरादून के लिए पूरे दिन नियमित अंतराल पर सभी तरह की बसें उपलब्ध हैं, जो 6-7 घंटे में आपको देहरादून पहुँचा देंगी। इसके साथ ही देहरादून दिल्ली समेत देश के प्रमुख शहरों से रेल-मार्ग से भी जुड़ा है। दिल्ली से देहरादून के लिए शताब्दी और जनशताब्दी जैसी ट्रेनें उपलब्ध हैं।
देहरादून से आपको चकराता के लिए बसें मिल जाएँगी। चकराता से लोखंडी के लिए न के बराबर बसें हैं, लेकिन शेयर्ड टैक्सियाँ मिल सकती हैं। आप चकराता से लोखंडी जाने के लिए टैक्सी भी बुक कर सकते हैं।
यदि आप चंडीगढ़ की तरफ से आ रहे हैं, तो आपको देहरादून वाली बस से हरबर्टपुर तक आना होगा। हरबर्टपुर से चकराता के लिए बसें मिलेंगी। यदि हरबर्टपुर से बसें न मिलें, तो नजदीक ही विकासनगर है, वहाँ से पूरे दिन आसानी से बसें उपलब्ध हैं।

Tiger Fall, Chakrata

चकराता-लोखंडी में कहाँ ठहरें?
हमारा सुझाव है कि आप चकराता बाजार में ठहरने के बजाय 15-20 किलोमीटर के क्षेत्र में किसी गाँव में होम-स्टे या होटल में ठहरें। मसूरी रोड पर ऐसे कई गाँव हैं, विशेषकर रामताल; और टाइगर फाल रोड पर भी बजट होटल उपलब्ध हैं। यदि आप लोखंडी में ठहरना चाहते हैं, तो आपके सामने दो विकल्प हैं:
1. द हिमालयन व्यू होटल
2. होटल हाई हिल

चकराता-लोखंडी में क्या करें?
यह क्षेत्र प्रकृति-प्रेमियों के लिए शानदार स्थान है। यहाँ का सबसे प्रसिद्ध स्थान टाइगर फाल है। यह भारत के सबसे ऊँचे जलप्रपातों में से एक है। मानसून में इसे देखना एक अलौकिक अनुभव होता है।
आप चकराता-मसूरी मार्ग पर चिरमिरी टॉप जा सकते हैं और रामताल भी।
लेकिन यदि आप लोखंडी नहीं गए, तो आपकी चकराता यात्रा अधूरी है। यहाँ से सूर्यास्त का शानदार नजारा देखा जा सकता है। लोखंडी से 6 किलोमीटर दूर मोइला बुग्याल है और इसी बुग्याल में एक गुफा भी है, जिसे बुधेर गुफा कहते हैं। मोइला बुग्याल घास का एक विशाल ऊँचा-नीचा मैदान है, जो समुद्र तल से लगभग 2750 मीटर ऊपर है।
आप देवबन भी जा सकते हैं, जहाँ से आपको सूर्योदय और सूर्यास्त दोनों के ही शानदार नजारे देखने को मिलेंगे। देवबन में जंगल विभाग का एक रेस्ट हाउस है, जहाँ आप ठहर सकते हैं।

चकराता-लोखंडी के आसपास:
1. कालसी (40 किमी)
2. डाकपत्थर बैराज (50 किमी)
3. पौंटा साहिब (75 किमी)
4. रेणुका झील (125 किमी)
5. हरिपुरधार (130 किमी)
6. चूड़धार (160 किमी)
7. मसूरी (80 किमी)
8. धनोल्टी (110 किमी)
9. टिहरी डैम (160 किमी)
10. उत्तरकाशी (180 किमी)
11. लाखामंडल (65 किमी)
12. यमुनोत्री (140 किमी)
13. हनोल (95 किमी)
14. हाटकोटी (110 किमी)
15. चांशल पास (170 किमी)
16. कोटखाई (150 किमी)
17. शिमला (200 किमी)

चकराता-लोखंडी जाने का सर्वोत्तम समय
पूरे साल (मई-जून में टाइगर फाल के आसपास भीड़ होती है।) सर्दियों में बर्फबारी भी होती है, खासकर लोखंडी में।

Moila Bugyal, Chakrata

Budher Cave, Chakrata

कृपया ध्यान रखें: 1. ग्रामीण क्षेत्रों में कचरा निस्तारण की सुविधा नहीं होती है। यदि आप अपना कचरा किसी कूड़ेदान में भी फेंकते हैं, तब भी उसका उचित निस्तारण नहीं हो पाता है। इसलिए कृपया कचरा-रहित यात्रा को प्राथमिकता दें।
2. यात्राओं में शराबी न बनें। शराबी लोगों की मौजमस्ती हमेशा दूसरों के लिए परेशानी का सबब बन जाती है और उपद्रव भी हो जाते हैं।
3. हाई वॉल्यूम म्यूजिक न बजाएँ। इसके लिए आपका घर सर्वोत्तम है। यात्राओं में आपके ऐसा करने से शांतिप्रिय यात्रियों को परेशानी होती है। याद रहे, आपकी आजादी और मौजमस्ती वहाँ समाप्त हो जाती है, जहाँ से दूसरे की आजादी और मौजमस्ती शुरू होती है।

आप चकराता-लोखंडी के बारे में कुछ भी जानना चाहते हैं, तो हमें बताएँ:

%d bloggers like this: