लांभरी हिल ट्रैक (3 दिन/2 रात) - 3 Days

Lambhari Hill Trek, Jibhi

जिन्होंने कभी भी ट्रैकिंग नहीं की है, उनके लिए यह ट्रैक एकदम उपयुक्त है। आप इस ट्रैक को एक दिन में भी कर सकते हैं, लेकिन सर्वोत्तम अनुभव के लिए आपको इसे दो दिनों में करना चाहिए।

नोट:

  1. रेनकोट अवश्य लाएँ। बारिश भी मिल सकती है और तापमान शून्य डिग्री तक भी हो सकता है।
  2. ट्रैक मुश्किल नहीं है, लेकिन यदि आपको पैदल चलने की आदत नहीं है, तो आपके लिए पैदल चलना मुश्किल हो सकता है।
  3. पूरी ट्रिप के दौरान किसी भी तरह की शराब पीना सख्त मना है। यदि आप ऐसा करते पाए जाते हैं, तो आपको ट्रिप से निष्कासित कर दिया जाएगा और कुछ भी रिफंड नहीं मिलेगा।

रिफंड पॉलिसी

  1. यात्रा शुरू होने के 30 दिन से पहले कैंसिल कराने पर 90% रिफंड।
  2. यात्रा शुरू होने के 5 से 30 दिन के बीच कैंसिल कराने पर 50% रिफंड।
  3. उसके बाद कोई रिफंड नहीं मिलेगा।
  4. GST का रिफंड नहीं मिलेगा।

Day 1
दिन-1: जीभी आगमन

यदि आप दिल्ली/चंडीगढ़ से मनाली की कोई भी बस पकड़ते हैं, तो वह आपको कुल्लू से 30 किलोमीटर पहले औट नामक स्थान पर उतार देगी। औट से आपको जीभी/घियागी की दूसरी बस मिलेगी। आज आप जीभी/घियागी में नदी के किनारे कैंप/होटल/होमस्टे में रुकेंगे।

Day 2
दिन-2: जीभी से सजवाड़ और लांभरी बेस (12 किमी गाड़ी, 6 किमी ट्रैक)

जीभी/घियागी से टैक्सी से सजवाड़ गाँव (2700 मीटर) जाएँगे और ट्रैकिंग शुरू करेंगे। रास्ता तेज चढ़ाई वाला है और घने जंगल से होकर गुजरता है। आज रात्रि विश्राम लगभग 3500 मीटर की ऊँचाई पर लांभरी हिल के बेस पर टैंटों में करेंगे। लांभरी हिल एक पवित्र स्थान है और वहाँ टैंट लगाने की मनाही है।

Day 3
दिन-3: लांभरी बेस से लांभरी हिल और वापस जीभी (8 किमी ट्रैक, 12 किमी सड़क)

सुबह नाश्ता करके 1 किमी दूर लांभरी हिल तक जाएँगे। इसकी ऊँचाई 3600 मीटर है और यहाँ बहुत बड़ा हाई एल्टीट्यूड मैदान है। यहाँ से आपको चारों तरफ के शानदार नजारे देखने को मिलेंगे, खासकर महाहिमालय की बर्फीली चोटियाँ।

वापस बेस पर आएँगे और सजवाड़ पहुँचकर टैक्सी से जीभी पहुँच जाएँगे। जीभी से आपको औट की बस मिल जाएगी और आप दिल्ली/चंडीगढ़ के लिए निकल सकते हैं।

You can send your inquiry via the form below.

Trip Facts

  • आसान ट्रैक
  • 2
  • 3
  • 3600 मीटर (11800 फीट)
  • हिमाचल प्रदेश